shayarikaro.com

अपनापन तो हर कोई दिखाता है पर अपना कोन है यह वक़्त ही बताता है

Apnapan shayariअपनापन शायरी 1- अपने ही अपनो से करते है अपनेपन की अभिलाषापर अपनो ने ही बदल रखी है अपनेपन की परिभाषा 2- रिमझिम तो है मगर सावन गायब हैबच्चे तो है मगर बचपन गायब हैक्या हो गयी तासीर जमाने की यारोअपने तो है मगर अपनापन गायब है 3- अपनापन झलके जिनकी बातो मेंसिर्फ कुछ …

अपनापन तो हर कोई दिखाता है पर अपना कोन है यह वक़्त ही बताता है Read More »

ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। attitude

तुम्हारे पास बहाने तो बहुत से थेमुझसे बात ना करने के,पर क्या कभी एक भी बहाना किया था तुमने मुझसे बात करने का। ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। “इतना मत इतराओ ऐ रंग” “अपनी खूबसूरती पर”,“ये दुनिया है, आज तुम्हे रंग कह …

ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। attitude Read More »

दिल परेशान रहता है उनके लिये, हम कुछ भी नहीं है जिनके लिये !! BEST sad shayari.

ये रात हमसे बहुत प्यार करती है,सबको सुलाकर हमसे अकेले में बात करती है !! सामान बाँध लिया है मैंने भी अब बताओ दोस्त,**वो लोग कहाँ रहते है जो कहीं के नहीं रहते। दिल परेशान रहता है उनके लिये,हम कुछ भी नहीं है जिनके लिये !! ये सोचकर न रोका उस मुसाफिर को हमने,दूर जाता …

दिल परेशान रहता है उनके लिये, हम कुछ भी नहीं है जिनके लिये !! BEST sad shayari. Read More »