ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। attitude

तुम्हारे पास बहाने तो बहुत से थेमुझसे बात ना करने के,पर क्या कभी एक भी बहाना किया था तुमने मुझसे बात करने का। ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। “इतना मत इतराओ ऐ रंग” “अपनी खूबसूरती पर”,“ये दुनिया है, आज तुम्हे रंग कह …

ये जो फ़िक्र मेरी हो रही है, इसका दाम बोलिए,अच्छा, याद आई है मेरी तो फिर काम बोलिए। attitude Read More »