Category: Dard Shayari

Dard Shayari| Hindi Dard Shayari | दर्द-भरी शायरी | Dard Shayari in Hindi

Dard Shayari | Dard Shayari in Hindi| Hindi Dard Shayari | Dard Bhari Shayari in Urdu| दर्द शायरी

नशा मोहब्बत का हो या शराब का
होश दोनों में खो जाता है
फर्क सिर्फ इतना है
शराब सुला देती है
और मोहबत रुला देती है


सजा हमे यह कैसी मिली दिल लगाने की
रो रहे मगर तमन्ना थी मुस्कुराने की
अपना दर्द किसे दिखाऊ ऐ दोस्त
दर्द भी उसी ने दिया जो वजह थी मुस्कुराने की


दिल को आता है जब भी ख्याल उनका
तस्वीर से पूछते हैं हाल उनका
वो कभी हमसे पूछा करते थे जुदाई क्या है
आज समझ में आया है सवाल उनका


पैग़ाम -ऐ -शौक को इतना तवील मत करना ऐ “नाहीद”
बस मुकतसर उन से कहना के आँखें तरस गयी हैं


तुम्हारी याद के साए मेरे दिल के अँधेरे में,
बहुत तकलीफ देते हैं मुझे जीने नहीं देते,
अकेली राह में हमराह कोई मिल तो जाता है,
मगर कुछ दर्द हैं जो दिल बहलने नहीं देते।


जाने क्या लिखा है मेरी हाथों की लकीरों में,
मैं जहाँ भी जाता हूँ वहीं पर दर्द मिलता है।


नमक तुम हाथ में लेकर सितमगर सोचते क्या हो,
हजारों जख्म हैं दिल पर जहाँ चाहो छिड़क डालो।


जितनी शिद्दत से मुझे ज़ख्म दिए है उसने,
इतनी शिद्दत से तो मैंने उसे चाहा भी नहीं था।

Dard Shayari | Dard Shayari in Hindi| Hindi Dard Shayari | Dard Bhari Shayari in Urdu| दर्द शायरी

कोई हँसे तो तुझे ग़म लगे खुशी न लगे,
ये दिल की लगी थी दिल को दिल्लगी न लगे,
तू रोज उठ कर रोया करे चाँदनी रातों में,
खुदा करे कि तेरा भी मेरे बिना दिल न लगे।


बज़्म-ए-वफ़ा में हमारी गरीबी न पूछिये,
एक दर्द-ए-दिल था वो भी किसी का दिया हुआ।


जो एक ज़रा सी बात पर रूठ गए हमसे,
वो हमारे दर्द की दास्तान क्या सुनते।


जब्त कहता है खामोशी से बसर हो जाये,
दर्द की ज़िद है कि दुनिया को खबर हो जाये।


तुम नहीं हो पास मगर तन्हाँ रात वही है !
वही है चाहत यादों की बरसात वही है !
हर खुशी भी दूर है मेरे आशियाने से !
खामोश लम्हों में दर्द-ए-हालात वही है !!


हम भी है कुछ अधूरे से तेरे बिना !
इतना की अलफ़ाज़ में नही बोल सकते !
बिना बोले समझ जाती है तू मुझे !
इसी सुकून से जी रहा हु आज भी यहा !!