Baap Beti ki Shayari

एक बेटी के लिए बहुत ही फक्र की बात होती है,
जब कोई कहता है यह तो बिल्कुल अपने बाप पर गयी है।

माँ बाप के जीवन मे,
यह दिन भी आता है,
जिगर का टुकड़ा ही,
एक दिन दूर हो जाता है।

एक पिता ने क्या खूब कहा है,
हमे तो सुख में साथी चाहिए,
दुख में तो मेरी बेटी अकेले ही काफी है।

बेटी के पैरों में कही पत्थर ना चूब जाए,
यही सोच कर बाप बेटी को सर पर बिठाए चलता रहता है।

Spread the love