अपनापन तो हर कोई दिखाता है पर अपना कोन है यह वक़्त ही बताता है

Apnapan shayariअपनापन शायरी 1- अपने ही अपनो से करते है अपनेपन की अभिलाषापर अपनो ने ही बदल रखी है अपनेपन की परिभाषा 2- रिमझिम तो है मगर सावन गायब हैबच्चे तो है मगर बचपन गायब हैक्या हो गयी तासीर जमाने की यारोअपने तो है मगर अपनापन गायब है 3- अपनापन झलके जिनकी बातो मेंसिर्फ कुछ …

अपनापन तो हर कोई दिखाता है पर अपना कोन है यह वक़्त ही बताता है Read More »